अमेरिका के वैज्ञानिकों ने खोज निकाली हनुमान की वो गुफा जिसका जिक्र रामायण में हुआ था, सच आया सामने

0
76
hanuman sachai

दोस्तों आप सभी लोगों को यह बात तो पहले से मालूम होगी कि रामायण से जुड़े कई सबूत हमारे पड़ोसी देश श्रीलंका में मिले थे। परंतु क्या आपको यह बात मालूम है कि रामायण से जुड़ा एक सबूत भारत से सात समुंदर पार एक ऐसे देश में मिला है जो कि आज के समय में सुपर पावर के तौर पर दुनिया भर में जाना जाता है। आपको यह बात सुनकर थोड़ी हैरानी जरूर हो रही होगी परंतु हम आपको बता दें कि हाल के दिनों में ही अमेरिका के वैज्ञानिकों ने उस गुफा को ढूंढ निकाला है जिसका वर्णन रामायण में किया गया है। तो चलिए बताते हैं आपको उस गुफा के बारे में जिसे अमेरिका के वैज्ञानिकों ने हाल के दिनों में ढूंढ निकाला है…

जानकारी के मुताबिक दक्षिणी अमेरिका के होंडूरास के जंगलों में एक ऐसे शहर की खोज हाल के दिनों में हुई है जिसे सिटी ऑफ मंकी का नाम दिया गया है। सिटी ऑफ मंकी का नाम दिए जाने के पीछे की वजह इस शहर में मौजूद हजारों साल पुरानी मूर्तियों को बताया जाता है जिसे इस शहर में ढूंढा गया है। ऐसा बताया जाता है कि उन मूर्तियों को देखने के बाद ऐसा प्रतीत होता है मानो यहां रहने वाले लोग हजारों साल पहले वानर देवता की पूजा किया करते थे। सबसे बड़ी दिलचस्प बात तो यह है कि यहां कई ऐसी मूर्तियां भी मिली है जिसमें वानर अपने घुटनों के बल बैठे हुए नजर आ रहे हैं। उन मूर्तियों को देखने के बाद राम भक्त हनुमान की याद लोगों को निश्चित तौर पर आएगी ऐसा भी बताया जा रहा है कि उन मूर्तियों के हाथों में गदा जैसा हथियार भी मौजूद है जो कि महाबली हनुमान के हाथों में मौजूद होती थी।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस शहर को पहली बार वर्ष 1940 में खोजा गया था। परंतु वर्ष 1954 में इस शहर को खोजने वाले व्यक्ति की रहस्यमई ढंग से मृत्यु हो गई। रहस्यमई ढंग से मृत्यु हो जाने की वजह से इस जगह के बारे में किसी भी व्यक्ति को कुछ भी मालूम नहीं पड़ा। परंतु इसके कुछ साल बाद खोजकर्ताओं ने एक बार फिर से इस जगह की खोज करनी शुरू की। इस जगह को खोजने के दौरान उन्हें एक ऐसा सुरंग मिला जिसके द्वार लोग पाताल लोक तक जा पहुंचे। आपको बता दें कि उस गुफा की गहराई लगभग 560 किलोमीटर बताई जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here