asifa case: क्या हुआ था 8 साल की बच्ची के साथ, बेहद दर्दनाक है बच्ची के अंतिम सात दिन की कहानी

0
1782
asifa
Kathua case

कठुआ गैंगरेप में 8 साल की बच्ची के साथ रेप को लेकर पूरे देश में आक्रोश है। गैंगरेप और हत्या की इस वारदात ने पूरे देश को झकझोर दिया है। मैं यकीन के साथ कह सकता हूं कि इस वारदात की पूरी कहानी जानकार आपका भी कलेजा कांप उठेगा। 8 साल की बच्ची का दर्द हम और आप महसूस नहीं कर सकते लेकिन इतना जरूर है कि बच्ची ने जब दर्द से चीखा होगा तो आसमान का गला भी रूंध आया होगा। 8 साल की बच्ची के साथ हुई इस दरिंदगी ने सब को डरा दिया है।

8 साल की बच्ची के साथ गैंंगरेप

दोपहर 12:30 बजे 8 साल की बच्ची अपने घर से घोड़े के लिए चारा लेने गई थी। बच्ची घर से बाहर निकली तो थी। लेकिन वो वापस नहीं लौटी जिसके बाद लड़की के पिता ने उसे खोजा लेकिन लड़की नहीं मिली। 12 जनवरी को उन्होंने हीरानगर थाने में केस दर्ज कराया पर पुलिस ने शिकायत पर गौर नहीं किया।

मंदिर में किया जा रहा था रेप

17 जनवरी, 2018 को जंगल में एक बच्ची की लाश मिली। और पुलिस ने जब इसकी जांच की तो पता चला कि 12 तारीख को जिस लड़की की गुमशुदगी की शिकायत दर्ज हुई थी, ये वही लड़की है।

  • पोस्टमार्टम में हुआ खुलासा

पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मालूम पड़ा कि लड़की के साथ कई दिनों तक गैंगरेप किया गया। लड़की को भूख से तड़पाया गया, नींद की गोलियां दी गईं। रेप करने के बाद उसे मौत के घाट उतारने के लिए उसका गला उसी के दुपट्टे से घोंटा गया था। उसके सिर पर भारी पत्थर से कुचल दिया गया।

  • पुलिसवाले ने भी किया रेप

पुलिस की चार्जशीट में खुलासा हुआ कि जब रेप के बाद आरोपी बच्ची की हत्या करने का प्लान बना रहे थे तो उससे पहले दरिंदों ने अपने साथी पुलिसवाले को कॉल किया। इसके बाद पुलिसवाले ने कहा कि बच्ची को मारना ही है तो मुझे भी रेप कर लेने दो। ये पुलिसवाले का नाम है दीपक खजूरिया जो एक एसपीओ है। इसके बाद सभी हैवानों ने एक बार फिर से हैवानियत को अंजाम दिया।

  • रेप करने मेरठ से आया एक आरोपी

पुलिस की मानें तो 11 जनवरी को एक नाबालिग आरोपी ने अपने साथी विशाल जंगोत्रा को मामले की जानकारी दी। फोन कर उसने कहा कि अगर वह प्यास बुझाना चाहता है तो मेरठ से जल्दी आ जाए। जिसके बाद 12 जनवरी को विशाल रासना गांव पहुंचा। आरोपियों ने आसिफा को एक मंदिर में बंधक बनाकर रखा था। आरोपियों ने उसे नशे की टेबलेट दी। फिर कई बार रेप किया गया।

कितने लोगों की हुई गिरफ्तारी

गिरफ्तार होने वाले लोगों में मुख्य आरोपी पूर्व राजस्व अधिकारी और देवी स्थान का सेवादार सांजी राम, स्पेशल पुलिस ऑफिसर (एसपीओ) दीपक खजूरिया, पुलिस ऑफिसर सुरेंद्र कुमार, रसाना गांव का परवेश कुमार, असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर आनंद दत्ता, हेड कांस्टेबल तिलक राज, पूर्व राजस्व अधिकारी का बेटा विशाल और उसका चचेरा भाई शामिल है। वहीं कुछ लोग इन आरोपियों के सपोर्ट में हैं। कई पुलिसकर्मियों पर सबूत मिटाने के आरोप लगे हैं।

इस पूरे मामले पर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल ने पीएम मोदी को घेरा। स्वाति ने पीएम को पत्र लिखा।

पत्र के जरिए स्वाति ने कठुआ रेप केस में कदम उठाने की मांग की है। स्वाति ने पीएम से सवाल पूछा कि क्या पीड़ित बेटियों का दर्द आप महसूस नहीं कर पा रहे?

यह भी पढ़ें: अब सूर्य तक पहुंचेगा इंसान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here