Facebook: इस तरह जानिए आपका डेटा लीक हुआ है या नहीं

0
151
facebook
facebook

Facebook: हाल ही में कैंब्रिज एनालिटिका द्वारा फेसबुक के तकरीबन 87 मिलियन यूजर्स का डेटा कर दिया था। जिसके बाद फेसबुक पर भी कई सवाल उठे। इसी को ध्यान में रखते हुए फेसबुक ने 9 अप्रेल से उन यूजर्स को नोटिफिकेशन भेजना शुरू किया है जिनका डेटा लीक हुआ है। फेसबुक इन यूजर्स को ‘PROTECTING YOUR INFORMATION’ नाम का एक डायरेक्ट लिंक भेज रहा है।

Facebook भेज रहा है मैसेज

protecting your information/ janganmanअगर This Is Your Digital Life ऐप में लॉग इन करने से आपका डेटा लीक हुआ है तो उन्हें भी मैसेज भेजा जा रहा है। इसमें कहा गया है कि आपकी बेसिक जानकारियां जैसे प्रोफाइल फोटो, पेज लाइक्स, बर्थडे जैसी जानकारियां शेयर की गई हैं।

फेसबुक ने एक डायरेक्ट लिंक भी जारी किया है जिस पर क्लिक करने के बाद आपको मालूम हो जाएगा कि आपकी निजी जानकारी लीक हुई है या नहीं।

जुकरबर्ग से हुए सवाल-जवाब

मार्क जुकरबर्ग ने अमेरिकी कांग्रेस के मेंबर्स के समक्ष आए और इस मामले से जुड़े कई सवालों का उन्होंने जवाब दिया।

  • मार्क ने किया बड़ा खुलासा

यूजर्स का डेटा लीक होने का मामला अभी तूल पकड़ा ही था कि अब एक नयी बात सामने आयी है। दरअसल फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने खुद ये खुलासा किया है कि जो फेसबुक नहीं चलाता उनका भी डेटा फेसबुक ट्रैक करती है लेकिन इंटरनेट की दुनिया में सक्रिय हैं।

साफ शब्दों में कहें तो फेसबुक उनका भी डेटा ट्रैक करती है जो फेसबुक पर अकाउंट नहीं है लेकिन इंटरनेट की दुनिया में एक्टिव है। मार्क द्वारा दिए गए इस बयान के बाद सभी हैरान है। फेसबुक पर प्राइवेसी को लेकर अब कई सवाल खड़े हो रहे हैं।

फेसबुक पर लगे कई संगीन आरोप

गौरतलब है कि फेसबुक पर पहले ही ये आरोप है कि फेसबुक ने कैम्ब्रिज एनालिटिका के साथ यूजर्स का निजी डेटा शेयर किया था। ये डेटा पॉलिटिकल पार्टियों को चुनाव में फायदा पहुंचाने के लिए इस्तेमाल किया गया। इस खुलासे के बाद भारत में भी खूब बवाल हुआ था। मार्क जुकरबर्ग ने अमरीकी सीनेट में इन सवालों का जवाब दिया था।

अमेरिकी सीनेट में मार्क से कई सवाल दागे गए जिनका जवाब देना मार्क के लिए बेहद मुश्किल था। कई ऐसे भी सवाल थे जिनका जवाब मार्क नहीं दे पाए और उन्होंने अपनी गलती स्वीकार की। हालांकि मार्क ने ये खुलासा किया कि जो फेसबुक यूज नहीं करता उनका भी डेटा ट्रैक करती है फेसबुक।

कुकीज के जरिए डेटा की जाती है ट्रैक

इस खुलासे के बाद वकीलों ने मार्क से कहा था कि उन्हें कोई ऐसा फीचर लाना होगा जिससे फेसबुक को ना यूज करने वाले लोग जान जाए कि उनकी कौन-सी जानकारी सोशल साइट्स के पास मौजूद है। अब आप सोच रहे होंगे कि आपके ब्राउसर से फेसबुक आपका डेटा कैसे ट्रैक करती है। और इससे फेसबुक को क्या फायदा होता है। आपके इन सवालों का उठना लाजमी है।

फेसबुक आपके ब्राउसर से आपका डेटा कुकीज के जरिए ट्रैक करती है। अगर आप इंटरनेट पर सक्रिय है तो अक्सर आपने इस शब्द कुकीज को जरूर देखा होगा। दरअसल कुकीज के जरिए फेसबुक आपके ब्राउसिंग एक्टिविटी पर नजर बनाए रखता है।

यह भी पढ़ें:  निजता का खात्मा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here