Fanney Khan Movie Review: ये फिल्म आपको क्यों देखना चाहिए यहां जानें

0
345
Fanney Khan Movie Review

Fanney Khan Movie Review

कलाकार: अनिल कपूर,ऐश्वर्या राय बच्चन,राजकुमार राव,पीहू सैंड

निर्देशक: अतुल मांजरेकर

मूवी टाइप: कॉमिडी,ड्रामा,म्यूज़िक

अवधि: 2 घंटा 10 मिनट

फिल्म “फन्ने खां” की स्टोरी उम्मीदों, सपनों और रिश्तों के बीच बुनी गई है. इस कहानी में एक पिता है जो अपनी बेटी को भारत का सिंगिंग सेंसेशन बनाना चाहता है और इसके लिए वो कुछ भी करने के लिए तैयार है. वह खुद भले ही एक बड़ा सिंगर ना बन पाया हो लेकिन अपनी बेटी को लता मंगेशकर बनाने का सपना जरूर देखता है.

फिल्म में क्या है खास 

Fanney Khan Movie Review

फिल्म में प्रशांत शर्मा (अनिल कपूर) मशहूर बनने का ख्वाब सजाता है. प्रशांत अपने दोस्तों के बीच फन्ने खां के नाम से जाना जाता है. प्रशांत अपने सपनों को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत करता है. ऐसा लगता है कि वो सुपरस्टार बनने के लिए ही जिंदा है. हालांकि वो अपने सपने को पूरा नहीं कर पाता. प्रशांत की पूरी उम्मीद अपनी नवजात बच्ची पर टिक जाती हैं. अपनी बेटी का नाम भी लता ही रखता है. लता काफी अच्छा गाती है और साथ ही डांस भी अच्छा करती है. हालांकि वो बॉडी शेमिंग का शिकार होती है.

प्रशांत अपनी बेटी को स्टार बनाने के लिए सबकुछ करता है और यहां तक कि अपने इस ख्वाब को पूरा करने के लिए जो उसपर जुनून सवार है उसके लिए अपनी ही बच्ची से फटकार भी सुनता है। उन्होंने मुंबई के एक मिडल क्लास व्यक्ति को लेकर बेहतरीन बैलंस बनाने की कोशिश की है जो कि अपने सपने और सच के बीच खूब मशक्कत करता है। उसकी वाइफ कविता (दिव्या दत्ता) भी उसके इस सपने को सच करने में हमेशा उसके साथ होती है। बतौर डेब्यू ऐक्टर पीहू ने अपने किरदार को काफी संवेदनशीलता के साथ जीया है, लेकिन जो चीज समझ से परे है वह है लगातार उसका उसके पापा से शिकायत। हॉट सिंगर बेबी सिंह के किरदार में ऐश्वर्या राय बच्चन काफी गॉरजस दिख रही हैं, लेकिन उनकी कहानी पर ज्यादा मेहनत नहीं ही की गई। टैलंटेड ऐक्टर राजकुमार राव प्रशांत का काफी अच्छा दोस्त है। राजकुमार राव के साथ उनकी केमिस्ट्री अस्वाभाविक नज़र आती है, जो कि कॉमिडी वाले सीन में छिप जाती है।

फिल्म की कहानी की राह सेकंड हाफ में थोड़ी भटकती हुई नजर आती है। जैसे कि बेबी सिंह की कोई रियल बैकस्टोरी नहीं है और उनकी लाइफ में केवल उनका एक मैनेजर है जो बस यही चाहता है कि एक रिऐलिटी शो में स्टेज पर वह (बेबी) वॉरड्रोब मैलफंक्शन का शिकार हो जाए। फिल्म का सेकंड हाफ काफी लंबा और कठिन नज़र आता है। ‘अच्छे दिन’ को छोड़कर म्यूज़िकल फिल्म ‘फन्ने खां’ का साउंड ट्रैक उतना शानदार नहीं बन पड़ा है।

यह भी पढ़ें: नशा कर रही इन पंजाबी लड़कियों ने जो किया वो शब्दों में नही बताया जा सकता, खुद देख लीजिए

फिल्म “फन्ने खां” सितारों से भरी एक म्यूजिकल ड्रामा है. फिल्म में सितारों की आवाज का जादू है. यह फिल्म दिखाती है कि कैसे कोई पैरंट्स अपने सपनों को अपने बच्चों के जरिए सच कर दिखाना चाहता है। इस फिल्म के शो स्टॉपर साफ तौर पर अनिल कपूर हैं, जिन्होंने अपने बेहतरीन अदाकारी का परिचय दिया है और जिसके लिए आपको ‘फन्ने खां’ एक बार जरूर देखनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here