नोएडा के मारवाह स्टूडियो में चल रहे पांच दिवसीय कार्यक्रम का शानदार समापन हुआ

0
24

नोएडा के मारवाह स्टूडियो में चल रहे पांच दिवसीय कार्यक्रम का शानदार समापन हुआ। इस कार्यक्रम में 15 अंतरराष्ट्रीय देशों के साथ लगभग 100 से भी अधिक अन्य क्षेत्रों के कलाकारों ने भाग लेकर इस कार्यक्रम को ऐतिहािक बना दिया। पांचवें दिन की शाम की शुरुआत चित्रकला की बेहद खूबसूरत प्रदर्शनी के साथ हुई, दीप प्रज्वलन एवम् गणेश वंदना के साथ कार्यक्रम की शुरूआत हुई,कार्यक्रम में शामिल हुए सभी अतिथियों को मंच पर सम्मानित किया, सभी महानुभावों ने ICMEI के प्रेसिडेंट संदीप मारवाह को इस कार्यक्रम के सफल होने पर बधाई दी और उनकी जमकर तारीफ की। समापन समारोह की शाम का पहला परफॉरमेंस कुच्चिपुरी डांसर गौरी ठाकुर ने बहुत ही सुंदर नृत्य प्रस्तुत कर भारतीय कला की सारगर्भिता प्रस्तुत किया।
नोएडा फिल्म सिटी में आयोजित होने वाला यह पहला कार्यक्रम है जो इतने बड़े स्तर पर आयोजित किया गया था।दिल्ली इंटरनेशनल आर्ट फेस्टिवल के संयोजक ICMEI के प्रेसिडेंट संदीप मारवाह ने कहा कि यह अपने आप में बड़े ही गर्व का विषय है कि मारवाह स्टूडियो में इतने भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें देश-विदेश से आए हुए कलाकारों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर यहां पर उपस्थित दर्शकों का खूब मनोरंजन किया। कला दो देशों को जोड़ने का कार्य करती है। जिससे विश्व बंधुत्व की भावना निर्मित होती है।भारत आज कला के क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभा रहा है क्योंकि विदेशी कलाकार भी भारतीय कला एवं संस्कृति को सीखना चाहते हैं और उसे अपनाना चाहते हैं भारतीय कला की व्यापकता इसी से ही पता चलती है कि यहां पर आए हुए अधिकांश कलाकारों ने भारतीय कलात्मकता को आत्मसात कर उसे प्रस्तुत करने की कोशिश की और बड़े ही सुंदर ढंग से उसे प्रस्तुत भी किया।
संदीप मारवाह ने कहा कि यह भारत के लिए बड़ा ही गौरवशाली पल रहा है जिसके माध्यम से विदेशों में भारतीय कला की पहुंच बढ़ रही है उन्होंने इस भव्य कार्यक्रम के आयोजन के लिए सभी को धन्यवाद कहा और सरकार के प्रति आभार व्यक्त किया।

इस कार्यक्रम की सफलता पर संदीप मरवाह ने कहा कि पेंटिंग और मूर्ति कला का स्कूल भी शुरू करने की मेरी योजना है ताकि इस क्षेत्र में अवसर तलाशने वाले युवा कलाकारों को एक मंच दिया जा सके और वे अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर पूरी दुनिया में भारत का नाम रोशन कर सकें।

इस कार्यक्रम में कोरियन बैंड ने बेहतरीन प्रदर्शन किया साथ ही एशियन अकैडमी आफ फिल्म एंड टेलिविजन के स्टूडेंट्स ने भी विभिन्न कलाओं के माध्यम से दर्शकों को खूब मनोरंजन किया। जिसमें फैशन शो, म्यूजिकल शो आदि प्रमुख रहे। इस फेस्टिवल में स्टूडेंट्स के साथ साथ टीचरों ने भी खूब जमकर परफॉर्मेंस दी।

दिल्ली इंटरनेशनल आर्ट फेस्टिवल का पांचवां दिन बेल्जियम के कलाकार के नाम रहा जिसमें बेल्जियम के कलाकारों ने “एक्रोबैटिक डांस आर्ट” परफॉर्मेंस कर लोगों की सांसें रोक दी। जो कि बहुत ही एडवेंचरस परफॉर्मेंस था। इस कार्यक्रम में गोपाल जी, गौरी मीनू ठाकुर, आचार्य सत्येंद्र नारायण, मिस्टर पाल , हरीश त्रिपाठी, आमिर अब्दुल्लाह, रितु अरिजीत सहित कई अन्य अन्य महानुभावों ने अपनी गरिमामय उपस्थिति दर्ज कर इस फेस्टिवल की शोभा बढ़ाई। कला के क्षेत्र में अग्रणी भूमिका के लिए इन्हें मोमेंटो देकर सम्मानित भी किया गया।

दिल्ली इंटरनेशनल आर्ट फेस्टिवल निश्चित रूप से उन नवोदित कलाकारों के लिए पथ प्रदर्शक का कार्य करेगा जो इस क्षेत्र में एक बेहतर भविष्य की तलाश में है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here