NASA: ये तो चमत्कार हो गया! अब सूर्य तक पहुंचेगा इंसान

0
594
Nasa
Nasa

NASA: इस खबर को पढ़कर हो सकता है कि आप हैरान रह जाए। क्योंकि अब वे दिन ज्यादा दूर नहीं जब इंसान सूर्य तक पहुंचेगा। मुझे याद है जब बचपन में ये कहा जाता था कि उस ‘आग के गोले’ यानी सूरज तक पहुंचाना नामुमकिन है लेकिन करिश्मा देखिए कि आज ये भी मुमकिन सा लग रहा है।

इंसान सूरज पर रखेगा कदम 

दरअसल NASA का ‘पार्कर सोलर प्रोब’ अपने अंतिम चरण में है। पार्कर सोलर प्रोब को सूर्य तक मानवता का पहला मिशन नाम दिया गया है। लॉन्चिंग के बाद यह सौर वातावरण-कोरोना से गुजरेगा। बता दें कि अब तक इंसानों द्वारा बनाई गई कोई भी चीच सूर्य के इतने पास नहीं गई है।

पार्कर सोलर प्रोब मिशन

मानव इतिहास का पार्कर सोलर प्रोब सूर्य तक पहूंचने का पहला मिशन है। इसके लॉन्च के बाद ही यह सबसे पहले सौर वातावरण की कक्षा में पहुंच जाएगा। इस क्षेत्र को कोरोना कहा जाता है। इस मिशन के जरिए यह यान ऐसे क्षेत्र में जाएगा जिस क्षेत्र में इंसान पहले कभी नहीं पहूंचा और ना ही देखा है। जो सवाल कई दशकों से राज बने हुए हैं उनके जवाब ढूंढने में मदद करेगा यह मिशन। इस मिशन के जरिए ऐसे सवालों के जवाब खोजे जाएंगे जो अब तक अनसुलझे बने हुए हैं।

क्या है खास

गौरतलब है कि इसका नाम एक फेमस अमेरिकी खगोलशास्त्री यूजीन पार्कर के नाम पर रखा गया है। बता दें कि साल 1958 में 90 साल के यूजीन पार्कर ने दुनिया को पहली बार बताया था कि अंतरिक्ष में सौर तूफान भी है। दरअसल ये यान पहले शुक्र का चक्कर लगाएगा। शुक्र का चक्कर लगाने के बाद ये यान सूर्य की ओर आगे बढ़ेगा। सूर्य तक पहूंचने से पहले ये मंगल की कक्षा में भी प्रवेश करेगा। खास बात है कि इस मिशन में शामिल होने के लिए नासा ने आम लोगों को भी इनवाइट किया है। बता दें कि इस मिशन में शामिल होने के लिए लोगों को सबसे पहले नासा की वेबसाइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन कराना पड़ेगा तब जाकर आपको एक सर्टिफिकेट मिलेगा। इसके बाद एक लकी ड्रॉ के तर्ज पर ही लोगों का चयन किया जाएगा।

  • इस मिशन के प्रॉजेक्ट मैनेजर ऐंडी ड्राइसमैन ने बताया कि ‘पार्कर सोलर प्रोब और इसने बनाने के लिए दिन-रात खूब मेहनत करने वाली टीम के सामने अभी बहुत से मील के पत्थर आएंगे’।
  • सूरज की प्रचंड ताप और गर्मी से गुजरते हुए यह यान सूर्य तक पहूंचेगा। पार्कर सोलर प्रोब मिशन से विज्ञान की कई गुत्थियां सुलझाने में मदद मिलेगी साथ ही यह भी पता चलेगा कि आखिर सौर वात किससे चालित होती है। बता दें कि वात का मतलब होता है, सूर्य से निकलने वाले पदार्थ। इन पदार्थों से ग्रहीय वातावरण का निर्माण होता है।

यह भी पढ़ें:  सिक्कों वाला पेड़

31 जुलाई को भरेगा उड़ान

स्पेसक्राफ्ट को अमेरिकी एयर फोर्स फ्लोरिडा लेकर जा चुकी है जहां अगले कुछ महीनों तक इसकी जांच की जाएगी। गौरतलब है कि स्पेसक्राफ्ट में थर्मल प्रोटेक्शन सिस्टम (टीपीएस) इंस्टॉल किया जाएगा। टीपीएस को क्रांतिकारी टैक्नोलॉजी माना जा रहा है। इस टैक्नोलॉजी की खास बात ये है कि ये सूर्य की गर्मी को झेल सकती है। पार्कर सोलर प्रोब संभवतः 31 जुलाई को उड़ान भरेगा।

स्पेसक्राफ्ट को अमेरिकी एयर फोर्स फ्लोरिडा लेकर जा चुकी है जहां इसकी टेस्टिंग चल रही है। डेल्टा IV हेवी लॉन्च व्हिकल पर ले जाने से पहले इसे अंतिम रूप दिया जा रहा है।

Summary
NASA: ये तो चमत्कार हो गया! अब सूर्य तक पहुंचेगा इंसान
Article Name
NASA: ये तो चमत्कार हो गया! अब सूर्य तक पहुंचेगा इंसान
Description
मानव इतिहास का पार्कर सोलर प्रोब सूर्य तक पहूंचने का पहला मिशन है। इसके लॉन्च के बाद ही यह सबसे पहले सौर वातावरण की कक्षा में पहुंच जाएगा। इस क्षेत्र को कोरोना कहा जाता है। इस मिशन के जरिए यह यान ऐसे क्षेत्र में जाएगा जिस क्षेत्र में इंसान पहले कभी नहीं पहूंचा और ना ही देखा है।
Author
Publisher Name
http://janganmannews.in/
Publisher Logo

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here