12 सितंबर को नोएडा स्थित मारवाह स्टूडियो में ग्लोबल लिटरेरी फेस्टिवल कर्टन रेजर लांच किया गया

0
144

उत्तर प्रदेश के नोएडा के एशियन एकेडमी ऑफ फिल्म एंड टेलीविजन, मीडिया और फिल्म के क्षेत्र में एक प्रतिष्ठत संस्थान के रूप में स्थापित है। मारवाह स्टूडियो में ग्लोबल लिटरेरी फेस्टिवल कर्टन रेजर लांच किया गया जिसका उद्देश्य भारत और उज्बेकिस्तान की संस्कृति के साथ मिल कर आगे बढ़ना है।

celebration in marwah

यह कार्यक्रम तीन दिनों तक चलने वाला एक अंतरराष्ट्रीय आयोजन है समाज को सकारात्मक बनाने के लिए किया गया यह प्रयास अति सराहनीय है। उज़्बेकिस्तान के प्रतिनिधि ने मारवाह स्टूडियो के संस्थापक संदीप को अपनी सांस्कृतिक का उत्कृष्ठ नमूना उपहार स्वरूप भेंट किया। ग्लोबल लिटरेरी फेस्टिवल कर्टन रेजर कार्यक्रम में अज़म्जोने आई मन्सुरो ने उज्बेकिस्तान का प्रतिनिधित्व किया इसके साथ ही इस कार्यक्रम में अशोक त्यागी जैसे कई अन्य गणमान्य लोगों की गरिमामयी उपस्थिति रही।

समाज का स्वरूप वर्तमान समय में जिस तरह बदल रहा है उसमे भारतीय सभ्यता और सांस्कृतिक को बचा कर रखना और खोए हुए गौरवशाली इतिहास को पुनः जीवित करना सबसे बड़ी चुनौती है, और यह दुनिया भर की संस्कृतियों को एक साथ लेकर चलने से ही पुनः वापिस आ सकती है, क्योंकि भारतीय संस्कृति का मूल आत्म ही वसुधैव कुटुंबकम् की है।

भारत असंभव कार्य को भी संभव कर सकता है: संदीप मारवाह

इंटरनेशनल चैंबर ऑफ मीडिया एंड एंटटेनमेंट इंडस्ट्री के प्रेसिडेंट संदीप मारवाह ने कहा कि आज भारत दुनिया का सबसे युवा देश है और जिसमें यह क्षमता है कि वह असंभव कार्य को भी संभव कर सकता है, भारत विश्व गुरु ता और आज फिर उसी दिशा में अग्रसर है, यह ग्लोबल लिटरेरी फेस्टिवल दोनों देशों की सांस्कतिक मूल्यों को एक नई ऊंचाई पर के जाएगी। इस कार्यक्रम में उज्बेकिस्तान के कलाकारों ने भारतीय गानों पर खूब डांस भी किया, और उजबेकी संकृतिक कार्यक्रम से सबका मन मोह लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here