केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के खिलाफ एक बार फिर मोर्चा खोलने को तैयार राजकुमार पासवान

0
75
rajkumar

स्वराज नागरिक मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व लोकसभा प्रत्याशी राजकुमार पासवान केंद्रीय मंत्री एवं लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के प्रमुख रामविलास पासवान के खिलाफ एक बार फिर बिहार के हाजीपुर से मोर्चा खोलने को तैयार हैं। राजकुमार ने ऐलान किया है वह केंद्रीय मंत्री के खिलाफ वह अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव में हाजीपुर सीट से एक बार फिर मैदान में उतरेंगे।

‘आप’ के टिकट पर चुनाव लड़ चुके हैं राजकुमार

आपको बात दें कि राजकुमार 2014 के आम चुनाव में दिल्ली में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (आप) के टिकट पर चुनाव लड़े थे, हालांकि उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। सूत्रों के मुताबिक राजकुमार को इस बार फिर भी आम आदमी पार्टी पासवान के खिलाफ चुनावी मैदान में उतारना चाहती है। वहीं, राजकुमार का दावा है कि वह राजधानी दिल्ली में कई बड़े राजनीतिक पार्टियों के संपर्क में हैं।
हालांकि उन्होंने किसी पार्टी का जिक्र नहीं किया है, लेकिन उनका कहना है कि वह जल्द ही इस बात का ऐलान कर देंगे कि वह किस पार्टी से चुनाव लड़ेंगे। केंद्र और राज्य सरकार हमला बोलते हुए राजकुमार ने कहा कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर बिहार में सीटों के बंटवारे को लेकर एनडीए में घमासान मचा हुआ है। ऐसे में जनता को उनसे काफी उम्मीदें हैं।
उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री अपने संसदीय क्षेत्र के विकास को लेकर चिंतित नहीं है, बल्कि वह किसी तरह अपनी कुर्सी बचाने में लगे हुए हैं। राजकुमार ने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनाव में हाजीपुर की जनता ने भले ही मुझपर विश्वास नहीं किया, लेकिन उन्हें अब इस बात का ऐहसास हो गया है कि उनके दुख सुख में मैं ही पिछले चार सालों से खड़ा हूं। यही वजह है इस बार हाजीपुर की जनता का मुझे भरपूर समर्थन और सहयोग मिल रहा है।
उन्होंने दावा किया कि इस बार रामविलास पासवान को हार का सामना करना पड़ेगा। गौरतलब है कि साल 2014 के लोकसभा चुनाव में बिहार की 40 सीटों में से बीजेपी ने 22, लोजपा ने छह और रालोसपा ने तीन सीटों पर जीत दर्ज की थी। बहरहाल, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता वाले जदयू के एनडीए में शामिल होने का मतलब है कि इस गठबंधन के घटक दलों के बीच सीटों का बंटवारा नए तरीके से करना होगा। राजकुमार को उम्मीद है कि एनडीए में जारी आपसी घमासान का उन्हें फायदा मिलेगा।
अमित शाह ने पिछले हफ्ते ऐलान किया था कि बीजेपी और जदयू बिहार में सीटों की बराबर संख्या पर चुनाव लड़ेंगे। अमित शाह के इस ऐलान के बाद केंद्रीय मंत्री एवं राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) प्रमुख रामविलास पासवान से हाल ही में मुलाकात की थी। समझा जाता है कि दोनों नेताओं ने आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर बिहार में सीटों के बंटवारे के फार्मूले पर चर्चा की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here