Youtube हो गया हैक, मशहूर गाना Despacito डिलीट

0
217
Youtube
Despacito

Youtube: लूइस फोंसी और डैडी यैंकी का Despacito सॉन्ग Youtube से डिलीट कर दिया गया। मंगलवार की सुबह गाने का  thumbnail बदलकर बंदूक पकड़े हुए मास्क गैंग की फोटो लगा दी गई थी। बता दें कि इस गाने को अब तक सबसे ज्यादा व्यू यूट्यूब पर मिले हैं।

सॉन्ग डेस्पासीटो यूट्यूब से डिलीट

song despacito/ janganmanगौरतलब है कि youtube से गाने को डिलीट करने की जिम्मेदारी Prosox और Kuroi’sh नाम के हैकर्स ने ली है। सिर्फ despacito ही नहीं बल्कि  कई वीडियोज में भी बदलाव कर दिया गया था। इससे पहले हैकर्स ने क्रिस ब्राउन, शकीरा, DJ स्नैक, सेलेना गोमेज, केटी पेरी और टेलर स्विफ्ट के सॉन्ग में बदलाव कर दिया था। बता दें कि फिलहाल सॉन्ग despacito वापस से उपलब्ध है।

ये भी जानिए

अब बात जब हैकिंग की हो रही है तो आइए आपको ये भी बताते हैं दुनिया के सबसे खतरनाक हैकर्स के बारे में। ऐसा नहीं है कि हैकिंग का ऐसा मामला पहली बार सामने आया हो। इससे पहले भी कई हैकर्स ने बड़े-बड़े करामातच किए हैं। ये सही है कि इंटरनेट की दुनिया ने लोगों का काम आसान किया है लेकिन इसकी वजह से कई लोगों की जिंदगी भी बर्बाद है।

  • करोड़ों लोग इंटरनेट की दुनिया में एक्टिव हैं। या यूं कहें कि इंटरनेट लोगों की जिंदगी का एक हिस्सा बन चुका है तो ये गलत नहीं होगा। और अगर ये भी कहें कि इंटरनेट ने कई लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं तो ये भी गलत नहीं होगा। इस डर का एक ही कारण है हैकिंग।
  • आजकल अधिकांश लोग कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं। औऱ कई ऐसे लोग भी होंगे जिन्हें डर है कि सिस्टम कहीं किसी हैकर्स का शिकार न हो जाए।

अब आप सोच रहे होंगे कि हैकर्स कौन हैं, तो आपको बता दें कि हैकर्स आपसे बिना पूछे आपके सिस्टम में घुसकर तबाह कर देते हैं। जी हां वो बिना आपके इजाजत के आपके सिस्टम को ऑपरेट करते हैं। अधिकांश हैकर्स प्रोग्रामर होते हैं। हैकर्स किसी भी सिस्टम के अंदर की जानकारी रखते हैं। और इसी वजह से वो बिना किसी परमिशन के किसी भी सिस्टम पर हमला करते हैं।

हैकर्स तीन प्रकार के होते हैं

  • ब्लैक हैट हैकर्स- ये वो हैकर्स होते हैं जो बिना इजाजत के किसी भी कंप्यूटर सिस्टम में दाखिल हो जाते हैं और अपने फायदे के लिए दूसरों के सिस्टम को तबाह कर देते हैं। इनका इरादा बिल्कुल भी अच्छा नहीं होता।
  • ये सिर्फ अपना फायदे के लिए काम करते हैं। इनका एक ही मकसद होता है कि वो सिस्टम से जरूरी डेटा चुराए या फिर उस सिस्टम बिल्कुल ही बर्बाद कर दें। ऐसा वो पैसों के खातिर या फिर किसी से बदला लेने के लिए करते हैं।

व्हाइट हैट हैकर्स- इन हैकर्स का काम ब्लैक हैट हैकर्स के बिल्कुल उलटा होता है। ऐसे हैकर्स सिस्टम के मालिक से इजाजत लेकर सिस्टम को हैक करते हैं। वो ऐसा किसी सिस्टम की सिक्योरिटी कितना मजबूत है या फिर मदद करने के लिए करते हैं। उनका मकसद किसी सिस्टम को नुकसान पहुंचाना बिल्कुल भी नहीं होता है।

यह भी पढ़ें: इस तरह जानिए आपका फेसबुक डेटा लीक हुआ है या नहीं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here